Teachers’ Day 2020 का महत्व, और History Of Teachers’ Day

0
1407
History Of Teachers’ Day

Teachers’ Day एक ऐसी अनूठी परंपरा का जश्न है जिसमे प्रत्येक वयस्क उन युवा मन को प्रेरणा देता है,जो देश के भविष्य को बनाने में मदद करते हैं।

भारत में, Teachers’ Day देश के पूर्व राष्ट्रपति, विद्वान, दार्शनिक और भारत रत्न से सम्मानित डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के उपलक्ष में प्रतिवर्ष 5 सितंबर को मनाया जाता है|

इस दिन प्कारत्येक विद्यार्थी को अपने जीवन के तमाम अनुभवों से सीख कर अपने आप को सही लक्ष्य की ओर अग्रसर करना चाहिए| स्कूल के छात्रों इस दिन अपने पसंदीदा teachers को अनेक उपहार देते है जैसे कि गुलाब, चॉकलेट और handmade कार्ड।

कौन थे डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन

World Teachers’ Day 5 अक्टूबर को मनाया जाता है, लेकिन प्रत्येक देश अलग-अलग तिथियों पर दिवस मनाता है। भारत में, Teachers’ Day 5 सितंबर को मनाया जाता है| क्योंकि यह डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन है। डॉ राधाकृष्णन ने कहा कि “शिक्षकों का देश में सबसे अच्छा दिमाग होना चाहिए।”

डॉ. राधाकृष्णन भारत के पहले उपराष्ट्रपति (1952-1962) थे और ये भारत के दूसरे राष्ट्रपति (1962-1967) भी बने। इनका जन्म आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु सीमा के निकट मद्रास प्रेसीडेंसी में हुआ था। एक उज्ज्वल छात्र होने के नाते, उन्होंने पैसो की कमी के बावजूद, छात्रवृत्ति जीतकर अपनी शिक्षा पूरी की। 1908 में दर्शनशास्त्र में एमए पूरा करने के बाद, डॉ. राधाकृष्णन ने मद्रास प्रेसिडेंसी कॉलेज में पढ़ना शुरू किया।

इसके बाद उन्होंने 1931 से 1936 तक Andhra University के कुलपति का पद संभाला, और फिर 1939 में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) के कुलपति बने|

इन्हें 1931 में knight की उपाधि दी गई थी, और फिर इन्हें 1954 में भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार – भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया। उन्हें 1963 में British Royal Order of Merit का सदस्य बनाया गया था।

Teachers’ Day का महत्व

शिक्षक दिवस के पीछे की कहानी यह है कि जब 1962 में डॉ. राधाकृष्णन ने भारत के दूसरे राष्ट्रपति का पद संभाला, तो उनके छात्रों ने उनसे 5 सितंबर को एक विशेष दिवस के रूप में मनाने की अनुमति लेने के लिए संपर्क किया। डॉ. राधाकृष्णन ने इसके बजाय 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाने का अनुरोध किया, ताकि समाज में शिक्षकों के योगदान को पहचाना जा सके।

शिक्षक दिवस स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और शैक्षणिक संस्थानों में मनाया जाता है। इस दिन छात्र अपने शिक्षकों के लिए performances, dances and host elaborate shows का आयोजन करते है।

Also Read: Shivaji Biography in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here